Charm rog ke ilaj – चर्म रोग के घरेलु इलाज

0

क्या आप भी चर्म रोग (Skin Disease) से परेशान है , आपको भी Charm Rog Ke Ilaj चाहिए। बिना डॉक्टर के पास जाये। तो फ्रेंड्स हम आपको Charm Rog Ke Ilaj आज आपको बताने वाले। कृपया करके हमारा पोस्ट पूरा पढ़े। फ्रेंड्स चर्म रोग अब आम सी बीमारी हो गयी।

Charm rog ke ilaj - चर्म रोग के घरेलु इलाज

जैसे ही ठण्ड का मौसम आता है तो , चर्म रोग होना स्टार्ट हो जाता है , वैसे तो चर्म रोग किसी भी मौसम में होता है। लेकिन ठन्डे मौसम में ज्यादा होता है। फ्रेंड्स आप घराईये नहीं , क्योकि हम आपको चर्म रोग के घरेलु इलाज बताने वाले है । तो कृपया करके आर्टिकल को पूरा पढ़े।

परिचय :- Charm rog ke ilaj – चर्म रोग के घरेलु इलाज

मल-निष्कासक (Excreta) अंगों के अन्तर्गत मुख्य रूप हमारे शरीर के त्वचा आती है। हमारे त्वचा के द्वारा ही शरीर के अंदर की गन्दगी प्रतिदिन निष्कासित होती है। और तब तक हमारे शरीर से बहार निकलती है जब तक हमारे शरीर से सारी गन्दगी बहार निकल जाये।  (charm rog ke ilaj)



इन्हे भी पढ़े:-

यदि जब त्वचा किसी भी कारण से अस्वस्थ हो जाता है और इसके छिद्र  धीरे से बंद हो जाते हैं जिससे हमारे शरीर में गन्दगी धीरे से अधिक बढ़ जाता है कि वह इस अंग द्वारा बाहर नहीं निकल पाती तो प्रकृति शरीर को मल-भार से मुक्त करने के लिए बहुत से रोग उत्पन्न कर देती है। जिससे यह गंदगी शरीर के बाहर निकलने लगती है। ये रोग इस प्रकार हैं- खाज-खुजली, दाद, फोड़े-फुन्सियां, उकवात, पामा, छाजन, कुष्ठ, चेचक तथा कण्ठमाला आदि। ये सभी  रोग  चर्म रोग प्रकार होते हैं। (charm rog ke ilaj)

चर्म रोग के लक्षण –

चर्म रोग से ग्रसित व्यक्ति की त्वचा पर सूजन आने लगते है। तथा उसके फोड़े-फुंसियां, खुजली तथा दाद हो जाता है और उसके शरीर पर छोटे-छोटे लाल या पीले दाने निकल आते हैं। (charm rog ke ilaj)

चर्म रोग होने का कारण:- 

  • मुख्य रूप से चर्म रोग होने का कारण शरीर के अंदर दूषित द्रव्य का जमा हो जाना है।
  • चर्म रोग शरीर के अंदर के कुछ खराबी और शरीर के गन्दगी के कारण भी होता है।
  •  संतुलित आहार न करने से , उचित तथा नियमित व्यायाम न करने से , आराम न करने, अच्छी तरह से नींद न लेने के कारण भी चर्म रोग हो जाता है।
  • अचानक से दुसित भोजन का सेवन कर लेने से भी चर्म रोग होता है।
  • शरीर में पाचन क्रिया में कुछ बड़बड़ तथा यकृत में कुछ खराबी हो जाने के कारण चर्म रोग हो जाते हैं।
  • अपने शरीर की अच्छी तरीके से साफ़ सफाई न रखने पर भी चर्म रोग होता है।
  • गीले कपडे तथा अधिक गर्म वाले कपडे पहनने के कारण भी चर्म रोग हो जाते हैं।
  • ज्यादा मानसिक तनाव तथा ज्यादा सोचने या चिंता के कारण भी चर्म रोग हो सकते हैं।
  • चर्म रोगी व्यक्ति के कपड़ो को पहनने तथा उसके द्वारा इस्तेमाल की गई वस्तुओ का उपयोग करने से भी चर्म रोग हो जाते हैं। क्योकि चर्म रोग एक संक्रामक रोग है

चर्म रोग का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार:-

  • चर्म रोग से ग्रसित व्यक्ति को कम से कम 7 दिनों तक गाजर, ककड़ी, पालक, गाजर, पत्तागोभी, सफेद पेठा आदि फलों का रस पीना चाहिए और कम से कम एक दिन उपवास रखना चाहिए। फिर कुछ दिनों तक भोजन जैसे-सलाद, अंकुरित खाद्य-पदार्थों का सेवन से चर्म रोग जल्दी ठीक होने लगता है।  (charm rog ke ilaj)
  • करेला के रस और नीबू के रस का घोल बना कर कुछ दिन पिने से चर्म रोग जल्दी ठीक होने लगता है।
  • नीम के पट्टी को पानी में उबाल कर उसी पानी में नहाना चाहिए , इसमें एक प्रकार का रसायनिक क्रिया होता है , जो चर्म रोग को ठीक करने में सहायक होता है।
  • रोगी के शरीर में हुए दाद खाज , में पुदीने के रस को लगने से चर्म रोग ठीक हो जाते है।
  • चर्म रोग ग्रसित व्यक्ति को तेल, नशीली ,खटाई, मसालेदार, चीजों आदि अम्लकारक खाद्य-पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे चर्म रोग और ज्यादा और तेज़ी से बढ़ने लगते हैं
  • रोगी व्यक्ति को अपने शरीर में सुद्ध सरसो के तेल को लगा कर धुप में बैठ कर मालिश करवाना चाहिए। और उसके बाद रगड़-रगड़ कर ठंडे पानी में नहाना चाहिए। इस प्रकार से प्रतिदिन उपचार करने से यह रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।  (charm rog ke ilaj)



महत्वपूर्ण जानकारी :-

  • चर्म रोग से ग्रसित व्यक्ति को अपने भोजन में नमक का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • चर्म रोग से ग्रसित व्यक्ति को चीनी, रिफाइण्ड तेल में बने खाद्य पदार्थ, चाय, कॉफी आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • चर्म रोग से ग्रसित व्यक्ति को एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि उसका मूत्र साफ होता रहे, त्वचा से पसीना निकलता रहे, फेफड़े ठीक काम करते रहें और पेट में कब्ज न होने पाए ।    *Charm rog ke ilaj – चर्म रोग के घरेलु इलाज *

 

इन्हे भी पढ़े:-





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here