सुखी और समृद्ध जीवन पाने के १० उपाय

सुखी और समृद्ध जीवन पाने के १० उपाय

सुखी और समृद्ध जीवन – हर कोई अपना सुखी और समृद्ध जीवन बना हुआ चाहता है। इसमें कोई बुरी बात नहीं है पर क्या अपने जीवन को सुखी या समृद्ध करने के लिए आप लोग कोई प्रयास करते हो नहीं न फिर कैसे आप अपने जीवन को सुखी और समृद्ध बना सकते हो।

आप को यह भी पढ़ना चाहिए

वास्तु दोष (Vastu dosh Issue) कैसे दूर करे ?

DIABETES MELLITYS- मधुमेह क्या है?

शेयर बाजार क्या है?

सुखी और समृद्ध जीवन
सुखी और समृद्ध जीवन

सुखी और समृद्ध जीवन के लिए सही तरीकेसे किए हुए काम अपनी मेहनत और भगवन की सच्चे दिल सी की हुयी आराधना से ही पाया जा सकता है। हमने आपके लिए सुखी और समृद्ध जीवन के लिए कुछ ज्योतिषी उपाए बताये है जो अगर आप अपने जीवन काल में करते हो तो आप जरूर सफल और सुखी जीवन पाओगे।

सुखी और समृद्ध जीवन के लिए उपाय

  1. व्यधिग्रस्त व्यक्ति के लिए उपाय – किसी व्यधिग्रस्त व्यक्ति पर औषधि का प्रभाव नहीं होता हो, तो गुलाब का एक पुष्प और सात बताशे पान के एक पत्ते पर रखकर, उसके सिर के ऊपर से वारें और उसे चौराहे पर रख दें. वह शीघ्र स्वस्थ होने लगेगा.
  2. व्यापार वृद्धि उपाय – प्रतिदिन हनुमान जी का पूजन करें और स्मरण करें प्रत्येक शनिवार को शनिदेव को तेल अर्पित करें. अपनी पहनी हुई एक जोड़ी चप्पल किसी निर्धन को, शनिवार के दिन, दान कर दें .
  3. व्यापार वृद्धि उपाय – पाँच रत्ती का मोती धारण कर, व्यापार,व्यवसाय में आशातीत लाभ प्राप्त होगा.
  4. व्यापार वृद्धि उपाय – कच्चा दूध चीनी मिलाकर जामुन के वृक्ष की जड़ में अर्पित करें. यह प्रयोग शुक्ल पक्ष के शनिवार से प्रारंभ करें.
  5. व्यापार वृद्धि उपाय -चाँदी के गिलास में जल का सेवन करें. साथ ही प्रत्येक अमावस्या की सायंकाल को मन्दिर में मीठी खीर अर्पित करें. शीघ्र ही आपको व्यापार में लाभ प्राप्त होगा.
  6. व्यापार वृद्धि उपाय – शुक्रवार की रात्रि को सवा किलो चने भिगों दें. उन्हें सरसों के तेल में बना लें. पहला भाग शनिवार को घोड़े या भैंसे को खिला दें दूसरा भाग कुष्ठ रोगी को दें. तीसरा भाग अपने ऊपर से घड़ी की सुई से उलटे ढंग से वार कर चौराहे पर रख दें. यह प्रयोग चालीस दिन करें, व्यापार तथा व्यवसाय में वृद्धि होगी.
  7. विवाह जुड़ने हेतु – विवाह के अभिलाषी जातक या जातिका को तब तक पीला वस्त्र धारण करना चाहिए, जब तक कहीं विवाह तय न हो. एक पीला रेशमी रूमाल भी साथ में सदा रखना चाहिए. इस प्रयोग से विवाह की संभावनाएं शीघ्र बनने लगती हैं.
  8. बच्चों की दीर्घ आयु के लिये – यह प्रयोग करें. प्रत्येक रविवार को सूर्य पूजन करें और नमक रहित भोजन करें तथा लाल वस्तु का दान करें.
  9. संतान प्राप्ति मेंबाधा  – शुक्रवार के दिन आटे में पनीर डालकर गाय को खिलाएँ ऐसा 43 दिन निरन्तर करें. संतान प्राप्ति में आ रही बाधाओं का शमन होगा.
  10. विवाह बाधा निवारण – जातक या जातिका 43 दिन तक पीपल पर निरन्तर जल चढ़ाएं, तो विवाह में उत्पन्न होने वाली बाधाएं समाप्त होगी. रविवार को या मासिक धर्म के समय जल नहीं चढ़ाना चाहिए.

Make Money Online:-Mastarji.com